कार्यक्रम

 

राश्ट्री अनुवाद मिशन अकादमिक गल्ल-कत्थ करोआने, भारती भाशाएं च अनूदित ज्ञान पुस्तकें दी उपलब्धता दा आकलन करने, नमें अनुवादकें गी अनुवाद सरबंधी सखलाई देने ते ज्ञान दे बटांदरे आस्तै कारजशालें, संगोश्ठियें ते ओरीएन्टेशन कार्यक्रमें दा आयोजन करदा ऐ। राश्ट्री अनुवाद मिशन अपने कार्यक्रमें च विद्वानें, अनुवादकें, विशेशज्ञें ते प्रकाशकें गी इक-दुए कन्नै मिलने-मलाने ते गल्ल-कत्थ राहें बचार सांझे करने लेई साद्दा दिंदा ऐ।
 

कार्यशालां

राश्ट्री अनुवाद मिशन कारजशालाएं दा सरिस्ता संपादकी स्हायता दलें दे अधिकारें दी तमील करने ते 22एं भाशाएं च हर बिशे दी शब्दावली तेआर करने आस्तै करदा ऐ। इक कताब दा अनुवाद पूरा होने मगरा, हर भाशा दे बिशे विशेशज्ञ जां संपादकी स्हायता दल आसेआ नामजद विशेशज्ञ इ’नें कार्यशालाएं च पांडुलिपियें दी नजरसानी च मदाद करोआंदे न ते अनुवादकें दा मार्गदर्शन करदे न।
 

संगोश्ठियां

अनुवाद कन्नै सरबंधत अकादमिक गोश्ठियें गी प्रोत्साहन देने आस्तै राश्ट्री अनुवाद मिशन सम्मेलनें दा सरिस्ता करदा ऐ। इन संगोश्ठियें च पढ़े गेदे उच्च दर्जे दे अकादमिक परचें दी नजरसानी करियै उ’नेंगी सांभी लैता जंदा ऐ। अक्सर इ’नें अकादमिक परचें गी राश्ट्री अनुवाद मिशन दे छमाही रसाले Translation Today च प्रकाशत कीता जंदा ऐ। एह् संगोश्ठियां राश्ट्री अनुवाद मिशन गी अनुवाद सरबंधी अकादमिक बैह्‌स-मुबासें दे अभिलेख तेआर करने च मदाद करदियां न जेह्‌ड़े अनुवाद अध्ययन ते सरबंधत बिशें च दिलचस्पी रक्खने आह्‍लें विद्यार्थियें ते शोध-छात्रें दे कम्म आई सकदे न।
 

ओरीएन्टेशन कार्यक्रम

राश्ट्री अनुवाद मिशन कुशल अनुवादक तेआर करने आस्तै प्रतिभागियें गी अनुवाद बारै सखलाई देने, अनुवाद सिद्धांत ते ज्ञान-अधारत पाठ-पुस्तकें दे अनुवाद कन्नै सरबंधत होर दुइयें गल्लें बारै ज्ञान देने ते अनुवाद साधनें कन्नै रूबरू करोआने आस्तै बक्ख-बक्ख भाशाएं च ओरीएन्टेशन कार्यक्रम आयोजित करोआंदा ऐ। इ’नें ओरीएन्टेशन कार्यक्रमें च हिस्सा लैने आह्‍‍ले प्रतिभागी कालेज ते यूनिवर्सिटियें दे बक्ख-बक्ख बिशे ते भाशाई पछौकड़ दे विद्यार्थी ते शोध छात्र होंदे न। कालेज ते स्कूलें दे शिक्षक, सुतैंत्तर अनुवादक ते बक्ख-बक्ख पेशें दे लोक बी इ’नें कार्यक्रमें च हिस्सा लैंदे न। प्रतिभागियें दी ताल अनुवादकें दे राश्ट्री रजिस्टर थमां बी कीती जंदी ऐ।

इ’नें कार्यक्रमें दे विशेशज्ञ अनुवाद अध्ययन ते सरबंधत बिशें थमां होंदे न जां/फ्ही भारती भाशाएं च ज्ञान-अधारत पुस्तकें गी प्रकाशत करदे रौह्‌ने आह्‍‍ले लेखक बी सद्दे जंदे न। ओह् विशेशज्ञ जेह्‌ड़े ज्ञान-अधारत पुस्तकें दा अनुवाद करा करदे न ते उब्बी जेह्‌ड़े तकनीकी शब्दावली दे बकास च रुज्झे दे न राश्ट्री अनुवाद मिशन दे विशेशज्ञ बनी सकदे न।
 

होर कार्यक्रम

राश्ट्री अनुवाद मिशन अपनी गतिविधियें दा प्रचार करने आस्तै पूरे देसै च आयोजित पुस्तक मेलें च हिस्सा लैंदा ऐ। जि’यां गै अनूदित कताबें दा प्रकाशन होग एन.टी.एम. बी इस चाल्ली दे प्रचारत्मक कार्यक्रमें जि’यां लेखक सम्मेलन, अनुवादक सम्मेलनें बगैरा दा आयोजन करग।